Thu. Apr 18th, 2024

    उत्तराखण्ड मैं देवी देवताओ की धरती है इस लिए इसे देव भूमि कहा जाता है यहाँ का मौसम बहुत ही अच्छा होता है यहाँ पर सुंदर पहाड़ भी देखने को मिलते है यहाँ पर लोग घुमने के लिए और शांति महसूस करने दूर दूर से आते है विदेशो से भी लोग यहाँ पर घुमने आते है Kedarnath Dham उत्तराखण्ड के रुद्प्याग जिले मैं है पंच केदार मैं केदारनाथ , कपेश्वर , मधेश्वर, तुंगनाथ और रुध्र्नाथ शामिल है .

    केदारनाथ के दवार श्रधालुओ के लिए 6  महीने के लिए खुलते है सर्दियों मैं यहाँ पर बर्फबारी होने के कारण यहाँ के रस्ते बंद हो जाते है यहाँ पर 5 नदियों का शंगम है मंदाकनी ,मधुगंगा छीरगंगा,सरस्वती,स्वरंगौरी इसमें शामिल है यहाँ पर चारो तरफ ऊचे ऊचे पर्वत है

    Kedarnath Dham

    रजिस्ट्रेशन : सोनप्रयाग यहाँ पर जाने के लिए रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ता है  उसके बाद आपका मेडिकल टेस्ट होता है और आपके पास कोई भी पहचान पत्र होना चाहिए उसके बाद आपका रजिस्ट्रेशन हो जाता है और आगे चेक्किंग भी होती है वहां पर आपको यह पास दिखना पड़ता है. यहाँ पर सकते मैं बहुत से ढाबे है जहाँ पर आप खाना भी खा सकते है और यहाँ पर रहने के लिए  कमरे भी मिल जाते है

    रास्ता: सोनप्रयाग से रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ता है अगर अपने ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन किया है तो फिर आपकी यात्रा सोनप्रयाग से शुरू होती है सोनप्रयाग से आपको शेयर टैक्सी मिली जाती है वहां से आपको गौरी कुण्ड तक जाना पड़ता है सोनप्रयाग मैं पास आपको दिखना पड़ता है फिर आपकी सोनप्रयाग से पैदल यात्रा शुरू होती है . Kedarnath Dham  मंदाकनी नदी के नज़दीक है गौरी कुण्ड से Kedarnath Dham 16 किलोमीटर है

    आपको यहाँ पर यात्रा खचर या घोड़े पर भी बैठ के कर सकते है आप यात्रा पैदल चल कर भी कर सकते है और यहाँ पर रस्ते मैं बहुत ही सुंदर नज़ारा देखने को मिलता है यहाँ पर बहुत ही जायदा बर्फ भी गिरती है और देखने मैं अच्छी भी लगती है. यहाँ पर रस्ते मैं देखने मैं बहुत ही बड़े बड़े पहाड़ मिलते है और गहरी खाई देखने को मिलती है

    महत्व : सभी चार धामों मैं से सब से उचाई पर केदारनाथ स्तिथ है जो की देखने मैं बहुत ही सुंदर लगता है पहाड़ो के बीच इसकी सुन्दरता देखने लायक होती है केदारनाथ शिव के 12 ज्योति लिंगों मैं से एक है शंकराचार्य जी ने इस मंदिर का निर्माण करवाया था.

    शंकराचार्य जी की समाधी मंदिर के पीछे ही है यह मंदिर कत्युरी निर्माण शेली का है शीत काल मैं केदारनाथ की डोली को ओम्कारेश्वर मंदिर उखीमठ मैं रखी जाती है.

    यहाँ के पुजारी रावल होते है .यहाँ पर कई पवित्र कुण्ड है जिन्हें आप यहाँ पर आकार  दर्शन  कर सकते है जैसे गौरी कुण्ड, पार्वती कुण्ड, हंस कुण्ड है भीम गुफा और ब्रम्हा गुफा भी केदार नाथ मैं ही स्तिथ है. यहाँ पर आकर मन् को शांति मिलती है

    यहाँ बहुत ही पवित्र स्थान है लोग यहाँ पर दूर से दर्शन करने आते है यहाँ की यात्रा देखने लायक होती है. यहाँ पर श्रद्धालु लाखों की संख्या मैं आते है और दर्शन करते है .

    निचे दिए लिंक को भी पढ़े -:

    Manak Sidh Temple | Dehradoon|Uttarakhand|मानक सिद्ध

    Kalu Sidh Temple | Dehradoon | श्री कालू सिद्ध मंदिर

    Nainital | Uttarakhand| नैनीताल

    HarKi Pauri Haridwar | Uttarakhand| हरकी पौड़ी हरिद्वार

    Mussoorie | Uttarakhand | मसूरी | उत्तराखंड

    Kausani |Switzerland of Uttarakhand |कौसानी उत्तराखंड का

    Mussoorie | Uttarakhand | मसूरी | उत्तराखंड

    Translate »